Mahavashikaran Mantra Prayog

महावशीकरण मंत्र प्रयोग

आज हम आपको कुछ ऐसे महावशीकरण मंत्रो के प्रयोग के बारे में बतायेगे जिसके करने से आप जिसे चाहेअपने वश में कर सकते है ।

प्रयोग करते वक़्त सावधानियो का जरूर ध्यान रखे अन्यथा आपके द्वारा किया जाने वाला प्रयोग निष्फल होसकता है । वशीकरण बिना मंत्रो के सही उच्चारण से नहीं हो सकता । इसलिए Vashikaran Mantra काउच्चारण सही साफ़ और स्पष्ट हो अन्यथा आपको इच्छीत फल की प्राप्ति नही होगी ।

वशीकरण मंत्र विधि सहित Vashikaran Mantra Vidhi Sahit

किसी भी शुभ शनिवार से प्रारम्भ करके शनिवार तथा रविवार को रात्रि में 101 बार निचे लिखे मंत्र जपे । मंत्रजप के समय दीपक जलता रहे और गूगल की धूनी दे । फूल और मिठाई प्रसाद के रूप में चढ़ाएं । इस मंत्र से 7बार अभिषिक्त करके इच्छित स्त्री या पुरुष को खिला दे, वह वशीभूत हो जायेगा । मंत्र इस प्रकार है –

हाथ पसारुं मुख मलूं,

काची मछली खाऊं

आठ पहर चोंसठ घड़ी,

जग मोह घर जाऊ

किसी भी शनिवार को आरम्भ करके 21 दिनों तक लगातार रत में शुद्ध होकर बैठे । फिर दीपक जलाकर औरलोबान की धूनी देकर आगे दिए गए मंत्र को 144 बार जपे| इस तरह से मंत्र सिद्ध हो जाता है| बाद में किसी भीसोमवार के दिन कोई पुष्प लेकर उस पर निम्न मंत्र पड़ते हुए 21 बार फंक मारे| वह फूल अभीष्ट व्यक्ति कोसुंघाने पर वह साधक के प्रति सम्मोहित  हो जायेगा । मंत्र इस प्रकार है –

नमो आदेश गुरु का

एक फूल फूल भर दोना

चोंसठ योगिनी ने मिल किया टोना

फूल फूल वह फल जानी

हनुमंत वीर घेर घेर दे आनी

जो सूंघे इस फूल की बास

उसका जी प्राण हमारे पास

सोती होये तो जगाय लाव

बैठी होये तो उठाय लाव

और देखे जरे बरे,

मोहि देखि मोरे पायन परे

मेरी भक्ति, गुरु की शक्ति

फुरो मंत्र ईश्वरी वाचा

वाचा वाची से टरे

तो कुम्भी नरक में परे|

किसी भी शुभ रविवार को पूजा के लिए सुपारी, पान, लौंग, पुष्प, मिठाई, दीपक, गूगल या अगरबती तथा घीखरीद लाये । फिर स्नान करके पूजा करे । तत्पश्चात यह सामग्री एक एक करके पान पर चढ़ाये और धुप दीपदेकर आग जलाये| इसके बाद मंत्र बोलते हुए 1-1  पुष्प को घी में डुबोकर हवन करते रहे । 108 पुष्पो कीआहुति देकर, पुनः मंत्र का 108 बार जप करे । यह क्रिया २१ दिनों तक करे । बाइसवें दिन सामर्थ्य के अनुसारब्राह्मणों को भोजन कराये और दक्षिणा दे । पूरी साधना अवधि में ब्रहम्चर्य से रहे ।

इस प्रकार मंत्र सिद्ध हो जायेगा । किसी को अपने प्रति वशीभूत करने के लिए किसी सुगन्धित पुष्प पर 7 बारमन्त्र पढ़ कर फूंक मारे । इसतरह वह पुष्प मंत्राभिषक्ति हो जायेगा । ऐसा मंत्र-सिद्ध पुष्प यदि अभीष्ट व्यक्ति(नर या नारी) को सुंघाया जाए तो वह साधक की ओर वशीभूत हो जाएगी । मंत्र इस प्रकार है –

कामरु देश कामाख्या देवी

तहां बसै इस्माईल जोगी

इस्माईल जोगी ने बोई बारी

फूल उतारे लोना चमारी

तीजे फूल हंसे, दूसरा विगसे

तीजे फूल में छोटा बड़ा नाहरसिंह बसे,

जो सूंघे इस फूल की बास

सो आवै हमारे पास

और के पास जाय

हियो फाट मर जाय

मेरी भक्ति, गुरु की शक्ति

फुरो मंत्र ईश्वर वाचा

 

इन मंत्रो को सिद्ध करने के बाद आप जिस पर भी इसका प्रयोग करेगे वो आपके वश में हो जायेगा । मगरसावधानी जरूरी है इसलिए सिद्ध करते वक़्त पूर्ण सावधानी रखे । वशीकरण मंत्रो की और अधिक जानकारी हेतु आप हमारे Vashikaran Specialist Arun Kumar जी से बात कर सकते है या आप किसी को वश में करना चाहते है तो आप उनकी सहायता ले सकते है ।

Advertisements

Bache in Kamo se Saal ke phle din nahi to ho skta hai nuksan

बचे इन कामो से साल के पहले दिन नहीं तो हो सकता है नुकसान

आज हम आपको कुछ ऐसे कामो के बारे में बताने लगे है जिसको अगर आप साल के पहले दिन करते है तो आपसे लक्ष्मी माता रूठ सकते है और बाकि देवी देवता भी| हम सब में ये मानते है कि दिन की शुरुआत अच्छी हो तो सारा दिन अच्छा रहता है| ठीक उसी प्रकार अगर नए साल की शुरुआत यानि की 1 जनवरी साल का पहला दिन शुभ रहेगा तो पूरा साल अच्छा रहेगा| Vashikaran Specialist – Astrologer Home

  1. उंघना यानि के तंद्रता निष्क्रियता की पहचान है इसी वजह से लक्ष्मी की कृपा नही मिल पति है|
  2. देर तक सोना भी लक्ष्मी माँ को रुष्ट कर सकता है इसलिए देर तक न सोये क्योंकि देर तक सोना यानि के समय को खोना| ज्यादा सोना दरिद्रता का कारक है इसलिए हमे उतना ही सोना चाहिए जितना हमारे शरीर और समय के अनुसार ठीक हो|
  3. कभी भी डरना नहीं चाहिए| डरने की आदत हमेशा ही नुकसानदायी होती है क्योंकि इसकी वजह से हम सफल नही हो पाते और हमारा आत्मविश्वास भी काम होता रहता है| ये डरना हमारी कुशलता पर भी असर डालता है|
  4. आलस्य हमारी सफलता के रास्ते का सबसे बड़ा बाधक है| आलस्य को जितनी जल्दी हो सके छोड़ दे क्योंकि आलसी व्यक्ति कभी भी जीवन में सफल नही हो सकता| आलस्य न होने से आप अपने हर काम को जल्दी से पूरे करेगे और इससे माँ लक्ष्मी प्रसन्न होते है|
  5. क्रोध न करे| क्रोध के कारण व्यक्ति अशांत हो जाता है और अपनी सोचने की क्षमता खो बैठता है और क्रोधित व्यक्ति कभी भी कोई भी काम सही ढंग से नहीं कर पाता|
  6. जानबूझ कर हर काम में देरी मत करे| क्योंकि जरूरी कामो को अगर देरी से करेगे तो आपके लिए हितकर नही होंगे|

नया साल आने में कुछ ही दिन शेष बचे है| नया साल आप सब के लिए खुशिया ले के आये| आपको सुख समृद्धि मिले| आपके परिवार में सुख शांति बनी रहे| ये हमारी मनोकामना है आपके लिए| Best Astrologer – Astrologer Home